अखिलेश यादव ने की सीबीआई जाँच की मांग !

0
91

imagesलखनऊ उत्तरप्रदेश- उत्तरप्रदेश में नौकरशाहों पर लापरवाही और भ्रस्टाचार के आरोप लगते रहे हैं, अब इसकी आंच सीएम योगी आदित्यनाथ के विशेष सचिव तक पहुचं गयी हैं, गौरतलब हो कि अभिषेक गुप्ता नाम के एक व्यक्ति ने प्रमुख सचिव एसपी गोयल पर रिश्वत लेने का आरोप लगाया था, जिसके चलते समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने मुख्यमंत्री पर निशाना साधते हुए सचिवालय में भ्रष्टाचार को बेहद दुखद बताया है, उन्होंने प्रमुख सचिव मुख्यमंत्री शशि प्रकाश गोयल के 25 लाख रुपया रिश्वत मांगने के मामले की सीबीआई से जांच कराने की मांग की है, अभिषेक गुप्ता को हिरासत में लिए जाने के बाद समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने सरकार पर जमकर हल्ला बोला, साथ ही गोंडा और फतेहपुर के डीएम के खिलाफ कार्रवाई पर भी अखिलेश ने सवाल खड़े किये, अखिलेश ने कहा कि निर्दोष जिलाधिकारियों पर कार्रवाई की गई है, उन्होंने कहा जिन जिलों में अवैध खनन और ओवरलोडिंग हो रही है, वहां कोई एक्शन नहीं लिया जा रहा, सरकार असली दोषियों के खिलाफ कार्रवाई नहीं कर रही है, इसके साथ ही सरकार की टॉयलेट योजना में बड़े पैमाने पर हो रहा है, इसकी भी जाँच होनी चाहिए, अखिलेश ने सरकार पर तंज कसते हुए कहा कि भाजपा सरकार के कार्यकाल में तो अस्पतालों में बच्चे तथा गरीब सुविधा के अभाव में मर रहे हैं, गोरखपुर के बीआरडी मेडिकल कालेज के बाद फर्रुखाबाद और अब कानपुर के लाला लाजपत राय अस्पताल में एसी प्लांट बंद होने के कारण पांच लोगों की मौत गंभीर लापरवाही है, उन्होंने कहा कि इस सरकार ने सूबे की स्वास्थ्य व्यवस्था और मेडिकल कॉलेजों को तहस-नहस कर दिया है, सूबे की स्वास्थ्य व्यवस्था ही चौपट हो गई है, कोई मरीजों को रिक्शे पर तो कोई ठेले और टांगे से ले जा रहा है, लोगों को एम्बुलेंस की सुविधा नहीं मिल रही है, अस्पतालों में मरीजों की न जांच हो रही है और न ही दवाएं मिल रही हैं, समाजवादी एम्बुलेंस सेवा से भी सरकार ने समाजवादी नाम हटा दिया है.

व्यू इंडिया टाइम्स के लिए संजय पाण्डेय की रिपोर्ट

 

LEAVE A REPLY